उत्तर प्रदेश में आई अपराधियों की शामत !

0
186

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद मानो प्रदेश में गैंगस्टर, माफिया और अपराधियों की शामत सी आ गई है।

महाराष्ट्र के मकोका के तर्ज पर योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश ऑफ ऑर्गनाइज्ड क्राइम एक्ट यानी ‘यूपीकोका बिल’ यूपी विधानसभा में आज पेश किया है। जो कि विधानसभा में बिना किसी संशोधन के साथ ध्वनिमत से पास हो गया। अब इस बिल को राज्यपाल के पास भेजा जाएगा।

विधानसभा में सीएम योगी ने कहा कि यूपीकोका आज की जरूरत है। संघटित अपराध को रोकने के लिए एक कानून की आवश्यकता महसूस की जा रही है। हम एक बार फिर जनता की सुरक्षा के हित में यूपीकोका को लाए हैं।

यूपी की सीमा खुली हुई हैं, उनकी सुरक्षा के लिए एक कानून की जरूरत है। आम जनमानस की सुरक्षा की गारंटी भी दे सके, जो प्रयास सरकार ने किए उसके परिणाम अच्छे आये हैं।

यूपीकोका की खास बातें

दरअसल, यूपीकोका कानून महाराष्ट्र के मकोका कानून जैसा ही होगा। मकोका को 1999 में महाराष्ट्र सरकार ने बनाया था। इसके पीछे मकसद मुंबई जैसे शहर में अंडरवर्ल्ड के आतंक से निपटना था। संगठित अपराध पर अंकुश लगाने के लिए ही इस कानून को बनाया गया था।

यूपीकोका कानून के तहत लगातार जबरन वसूली, किडनैपिंग, हत्या या हत्या की कोशिश और दूसरे संगठित अपराध करने वालों के खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा और ऐसे अपराधियों पर अंकुश लगाया जाएगा।

यूपीकोका की श्रेणी में आने वाले अपराध के निपटाने के लिए राज्य सरकार विशेष न्यायालय का गठन करेंगी। ताकि जल्द से जल्द मामलों का निपटारा किया जा सके। अपराधियों की संपत्ति राज्य सरकार द्वारा जब्त की जा सकती है। इसमें सजा का भी काफी कठोर प्रावधान है।

ये विडियो देखें :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here