पीएम मोदी के स्वागत में चीन में बजाया गया ऐसा गाना जिसे सुनकर पाक को उसकी औकात पता चल जायेगी

0
303

बाते कई दिनों से सबकी निगाहें इसी पर टिकी थीं कि वो पल कैसा होगा जब पीएम मोदी चीन जायेंगे. लोग इसलिए इस पल का इंतज़ार इसलिए कर रहे थे क्योंकि बीते कुछ समय से कभी डोकलाम विवाद तो कभी कई मौकों पर चीन की पाकिस्तान से अजीबोगरीब जुगलबंदी चीन का एक ऐसा रूप भी सामने ले आती थी जो कि वाकई भारत के लिए किसी भी मायने में सही नहीं लगती. ऐसे में जायज़ था लोग देखना चाहते थे कि क्या होगा जब पीइम मोदी और जिनपिंग आमने-सामने आयेंगे.

मुलाकात में सामने आया चीन का ये रूप

सबसे पहले देश और दुनिया को चौंकते हुए चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने प्रोटोकॉल तोड़कर पीएम मोदी का स्वागत किया. ये अपने आप में नया था क्योंकि अबतक अपने पीएम मोदी को तो ऐसा करते कई मौकों पर देखा होगा जहाँ उन्होंने अपने गेस्ट्स के लिए प्रोटोकॉल तोड़कर तोड़ा हो और उन्हें गले लगाया हो लेकिन शायद ये पहला मौका था जब किसी और देश के प्रतिनिधि ने भी ऐसा हैरान कर देने वाला कदम उठाया हो.

बताया जा रहा है कि एअरपोर्ट की इस मुलाकात के बाद पीएम मोदी और शी जिनपिंग ने औपचारिक वार्ता की और शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया.

इसी ख़ास मुलाकात के दौरान चीन ने पीएम मोदी के स्वागत में ऐसा गाना बजाया जिसे अगर गलती से भी पाकिस्तान ने सुन लिया तो उसको दिन में तारे नज़र आ जायेंगे. दरअसल शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के बाद अपनी मेहमाननवाजी का परिचय देते हुए प्रधानमंत्री मोदी को शी जिनपिंग ने सबसे पहले चीनी परंपराओं से अवगत कराया.

इस कड़ी में जुड़ते हुए सबसे पहले पीएम मोदी के स्वागत में ढोल और घंटिया दिखाई और फिर चीनी कलाकारों ने ख़ास पीएम मोदी के लिए एक प्रस्तुति पेश की. इस ख़ास प्रस्तुति में चीनी कलाकारों ने बॉलीवुड फिल्म का मशहूर गाना “तू तू है वही दिल ने जिसे अपना कहा”बजाया गया.

ऐसे में हम दावे से कह सकते हैं कि अगर गलती से भी इस ख़ास खातिरदारी और इस गाने के बोल पाकिस्तान के कानों में पड़ गए तो पाकिस्तान को यकीनन अपनी औकात पता चल जाएगी. बताया जा रहा है कि जिस वक़्त चीनी कलाकार पीएम मोदी के लिए ये ख़ास प्रस्तुति पेश कर रहे थे उस समय पीएम मोदी के चेहरे की ख़ुशी वाकई देखने लायक थी.

जिनपिंग ने इस मुलाकात को बताया ‘पवित्र’

पीएम मोदी की इस चीन यात्रा के पहले दिन ही शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए चीनी राष्ट्रपति ने इसे ख़ास और पवित्र बताया है. जिनपिंग ने कहा है कि, ” यह वसंत का मौका है और इस मौसम में जो भी रिश्ते बनते हैं वह पवित्र माने जाते हैं.”

देखिये वीडियो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here