दुबई से आई पाकिस्तान के लिए बेहद शर्मनाक खबर लेकिन वहीं भारत के बारे में कुछ ऐसा कहा कि…

0
177

बीते दिनों में पाकिस्तान का जैसा रूप सामने आया है उससे उसकी खूब किरकिरी हो रही है. मोदी सरकार के चलते उसकी सच्चाई भी सबके सामने आई है. आतंकवाद को बढ़ावा देने में पाकिस्तान इतना मशगूल हो चुका है कि उसे अब अपने नागरिकों और अपने देश की कोई चिंता नहीं है.

अमेरिका ने तो पाकिस्तान को दी जाने वाली आर्थिक मदद पर रोक लगा ही दी है लेकिन अब एक खबर दुबई से आ रही है जो पाकिस्तान के लिए बेहद ही शर्मनाक है. बता दें कि इस खबर में भारत को लेकर भी कुछ ऐसा कहा गया है जिससे पाकिस्तान को सीख लेनी चाहिए.

दुबई के उच्च सुरक्षा अधिकारी ने कहा..

NBT के मुताबिक 1 अप्रैल को दुबई के एक उच्च सुरक्षा अधिकारी धाई खलफान ने ट्वीट करते हुए पाकिस्तान के तीन नागरिकों के पकड़े जाने की जानकारी दी. बता दें कि इन तीनों पर ड्रग्स का धंधा करने का आरोप है. अधिकारी ने ट्वीट में लिखा है कि “गल्फ देशों के लिए पाकिस्तान नागरिक खतरा हैं, वो यहां पर ड्रग्स स्मगलिंग करते हैं. वो हमारे देश में ड्रग्स लेकर आते हैं.

पाकिस्तानी नागरिक सुरक्षा के लिए खतरा

अधिकारी ने ये भी लिखा कि “पाकिस्तान के नागरिक हमारे देश की सुरक्षा के लिए खतरा है और जरूरत है कि पाकिस्तान के मजदूरों की भर्ती पर रोक लगाई जाये. यहीं नहीं पाकिस्तान के नागरिकों कि सघन जाँच भी की जानी चाहिए.” वहीं बांग्लादेशी नागरिकों पर अधिकारी ने कहा कि, ‘बांग्लादेशी नागरिकों के रवैये आपराधिक होने के कारण हम उनपर सख्त हैं लेकिन साथ ही अब पाकिस्तान से आने वाले लोगों के प्रति भी ऐसा होना चाहिए.

भारत के बारे में अधिकारी ने कहा..

जहां एक तरफ दुबई के हेड ऑफ जनरल सिक्यॉरिटी धाई खलफान ने पाकिस्तान के नागरिकों को लेकर चिंता जताई और सुरक्षा के नजर से उन्हें खतरा बताया वहीं भारतीय नागरिकों के लिए तारीफ के पुल बांधे. सुरक्षा अधिकारी ने भारतीयों के लिए कुछ ऐसा कहा कि पाकिस्तान को भी शर्म आ जाएगी.

बता दें कि अधिकारी ने भारतीयों के बारे में कहा कि “पाकिस्तानियों के मुकाबले भारतीयों में काफी अनुशासन देखने को मिलता है और वो बेहद अनुशासित होते हैं. वो यहां के कानून-कायदे पालन करते हैं लेकिन पाकिस्तानियों की गतिविधि संदिग्ध रहती है.”

जाहिर है कि पाकिस्तान की जिस तरीके से छवि बनी हुई है ऐसे में उसका विकास कर पाना बहुत ही मुश्किल है, ऐसे में उसके सामने एक ही रास्ता है कि वो ईमानदारी के साथ आतंकवाद को पनाह देना बंद करे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here