सीरिया पर हुए हमले को लेकर रूस की अमेरिका को भयंकर चेतावनी! कहा- तैयार हो जाये तीसरे…

0
208

सीरिया : जैसा कि हम सभी इस बात को जानते हैं कि ‘सीरिया’ के ‘डूमा’ के लोगों पर रासायिनक हथियारों उपयोग करने के जवाब में शनिवार (14 अप्रैल) सुबह 4 बजे अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने 100 से ज्यादा मिसाइलों से हमला कर दिया. जानकारी के अनुसार अमेरिका की इस करवाई को लेकर रूस और ईरान गुस्से में हैं.

खबर मिली है कि इस हमले की ‘रूस’ के राष्ट्रपति ‘व्लादिमर पुतिन’ ने कड़ी निंदा करते हुए कहा है कि यह हमला संयुक्त देशों की आक्रामक है. इस हमले के बाद सरकारी रूसी टीवी चैनल पर रूस के नागरिकों को तीसरे विश्व युद्ध के लिए तैयार रहने के लिए आगाह किया है.

सूत्रों से जानकारी के अनुसार पता चला है कि मॉस्को में वरिष्ठ पत्रकार ने बातचीत के दौरान कहा है कि जब मैंने एक साल पहले कहा था कि हम नए शीतयुद्ध की तरफ बढ़ चुके हैं, लेकिन उस समय कोई सहमत नहीं था और आज वो सब सहमत हैं. इस बात से यह साफ हो गया है कि इस दूसरे शीतयुद्ध में होने वाली घटनाएं तेजी से हो रही हैं.

अभी तो इसकी केवल शुरुआत हुई है. सीरिया पर हमले से पहले अमेरिका में रूस के राजदूत ‘एनातोली एंटोनोव’ ने हमले की सूरत में परिणाम भुगतने को लेकर बात कही थी. साथ ही एंटोनोव ने कहा था कि उनको इस तरह की करवाई के परिणाम भुगतने होंगे, जिसकी जिम्मेदारी अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस पर होगी. इसके अलावा उन्होंने कहा कि रूस के राष्ट्रपति का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

ट्रंप हमारे समय के हिटलर नंबर-2 : शेरिन

सूत्रों ने जानकारी देते हुए कहा है कि स्टेट ड्यूमा की रक्षा समिति के उप प्रमुख ‘अलेक्जेंडर शेरिन’ ने ‘डोनाल्ड ट्रंप’ की तुलना ‘अडोल्फ़ हिटलर’ से करते हुए कहा है कि इस हवाई हमले को रूस के खिलाफ अहम कदम माना जाता है. साथ ही उन्होंने कहा है कि ट्रंप को वर्तमान समय का हिटलर नंबर-2 माना जाता है. इसके अलावा उन्होंने सीरिया पर हमले को लेकर कहा है कि ट्रंप ने सीरिया पर हमले के लिए वही समय तय किया, जिस समय में हिटलर ने सोवियत संघ पर हमला किया था.

तुर्की ने कहा- तनाव बढ़ा तो होगा तीसरा विश्व युद्ध

जानकारी के अनुसार ईरान के शीर्ष नेता अयातुल्ला अली खामनेई ने सीरिया के राष्ट्रपति ‘बशर-अल-असद’ के समर्थन करते हुए कहा है कि सीरिया पर किया गया हमला अपराध था. उनको इस हमले से किसी तरह का कोई भी लाभ नहीं होगा. इसको लेकर अमेरिका का समर्थन करते हुए तुर्की के रक्षा मंत्री ‘एन. कैनिक्ली’ ने कहा है कि अगर इस तरह से तनाव बढ़ा तो तीसरा विश्व युद्ध होगा.

सीरिया पर हमले को लेकर फ्रांस के विदेश मंत्री ‘जां एव ली डारियां’ ने कहा है कि इस हमले में अधिक संख्या में हथियारों खत्म हो चुके हैं. साथ ही डारियां ने कहा है कि डूमा में आम नागरिकों पर रासायनिक हथियारों का उपयोग करने वाले सीरिया ने संयुक्त कार्रवाई के बाद सबक भी लिया होगा. सूत्रों ने जानकारी देते हुए कहा है कि सीरिया पर हुए हमले में अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने बी-1 बॉम्बर्स, टोरनैडो जेट्स के साथ युद्धपोत का भी उपयोग किया था.

परिषद् में रूस का बड़ा झटका

खबर मिली है कि सीरिया पर हमले के बाद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भी रूस को तगड़ा झटका लगा है. जानकारी के अनुसार परिषद ने रूस के प्रस्ताव को बहुमत से खारिज कर दिया. इस प्रस्ताव में सीरिया हमले को लेकर बात कही गई थी. साथ सीरिया के रासायनिक हथियारों के ठिकानों को निशाना बनाकर किए गए हमलों को परिषद का साथ भी मिल गया.

मिशन पूरा हुआ- डोनाल्ड ट्रंप

इस हमले के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ‘डोनाल्ड ट्रंप’ ने कहा है कि पिछली रात इस हमले को हमने शानदार तरीके से पूरा किया. अब मिशन पूरा हुआ. साथ ही इस हमले में अमेरिका का साथ देने वाले ‘फ्रांस’ और ‘ब्रिटेन’ का शुक्रिया अदा किया है.

तुर्की ने की पुतिन ने बात

सूत्रों ने जानकारी देते हुए कहा है कि सीरिया पर हुए हमले के बाद ‘तुर्की’ ने रुसी राष्ट्रपति पुतिन ने फोन पर बातचीत करते हुए कहा है कि वर्तमान समय में सीरिया में जो हालात हैं उसको फिर से दुरुस्त बनाने के लिए राजनीतिक प्रक्रिया अपनाने को द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाना बहुत आवश्यक है. साथ ही उन्होंने इस हमले को लेकर कड़ी निंदा की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here