योगीराज में यूपी से आयी इस रिपोर्ट को पढ़कर आपकी आँखें फटी रह जाएंगी, मोदी शाह भी रह गये हैरान

0
625

लखनऊ : मुलायम, मायावती और फिर अखिलेश, तीनों ने मिलकर प्रदेश को बीमारू राज्य बनाये रखने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी. मायावती ने अपने कार्यकाल में जमकर लूट मचाई और अखिलेश तो उनसे एक कदम आगे निकल गए, लूटने के साथ-साथ तुष्टिकरण के लिए दंगे-फसाद तक करवाए. मगर पीएम मोदी और सीएम योगी ने प्रदेश की जनता से किया सबसे बड़ा वादा पूरा कर दिखाया है, जिससे प्रदेश की जनता में काफी ख़ुशी देखी जा सकती है.

यूपी में 2500000000000 रुपये का निवेश

दरअसल प्रदेश में गुंडा राज होने के कारण कोई भी बड़ी कंपनी यूपी में निवेश नहीं करना चाहती थी, जिसके कारण यहाँ के लोगों को अन्य राज्यों में भटकना पड़ता था. मगर सीएम योगी के राज में यूपी पुलिस ने धड़ाधड़ एनकाउंटर करके ज्यादातर बड़े गुंडों को परलोक पहुंचा दिया और अन्य जेलों में ठूंस दिए गए. साथ ही यूपीकोका बिल को भी मंजूरी दे दी गयी.

लिहाजा प्रदेश अपराध मुक्त होता जा रहा है. परिणामस्वरूप उत्तर प्रदेश में जल्द ही निवेशक सम्मेलन के दौरान जबरदस्त निवेश होने जा रहा है. कंपनियों ने सीएम योगी के राज पर अपना भरोसा जताया है. अधिकारियों के मुताबिक़ राज्य में अब तक 2500000000000 रुपये यानी करीब ढाई लाख करोड़ रुपये से अधिक के निवेश के प्रस्ताव आ चुके हैं.

मोदी से भी तेज योगी आदित्यनाथ

इसे लेकर योगी सरकार ने पिछले दिनों कई जगहों पर रोड शो आयोजित कर राज्य में निवेश की संभावनाएं तलाशी थीं. यूपी औद्योगिक विकास विभाग के अधिकारियों के मुताबिक़ फरवरी में निवेशक सम्मेलन के आयोजन और इससे पहले प्रमुख राज्यों में रोड शो का प्रयोग काफी सफल रहा है. सरकार को अब तक करीब 2.53 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिले हैं.

इसमें दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद व बंगलुरु जैसे बड़े शहरों के रोड शो में शामिल उद्योगपतियों ने प्रदेश में आगे बढ़कर निवेश के लिए हाथ बढ़ाया है. सरकार को उम्मीद है प्रस्तावित कोलकाता और अहमदाबाद रोड शो से भी इसी तरह के उत्साहवर्धक निवेश के प्रस्ताव मिलेंगे.

अधिकारी ने जानकारी दी कि दिल्ली में आयोजित रोड-शो में 27,000 करोड़, बंगलौर के रोड-शो में 6,000 करोड़, हैदराबाद के रोड-शो में 11,500 करोड़ और मुंबई रोड-शो में 1.25 लाख करोड़ रुपये के निवेश के प्रस्ताव विभिन्न औद्योगिक घरानों व उद्यमियों ने दिए हैं.

इसके बाद कोलकाता तथा अहमदाबाद में रोड-शो का आयोजन होगा. इसमें भी अच्छे परिणाम मिलने की संभावना है. जल्दी में होने वाली निवेशक सम्मेलन में देश-विदेश से बड़ी संख्या में उद्योगपतियों है शामिल.

गुजरात, मुम्बई को पीछे छोड़ देगा यूपी

बता दें कि बंगाल, बिहार और यूपी इन तीन राज्यों से अब तक बड़े निवेशक कन्नी काटते आये हैं क्योंकि यहाँ गुंडा राज, माफिया, वसूली करने वाले गैंग के साथ-साथ नेताओं तक को चन्दा पहुँचाना पड़ता था. मगर प्रदेश ने एक योगी को अपना मुख्यमंत्री बनाकर अपना भाग्योदय कर लिया.

प्रदेश अपराध मुक्त तो हो ही रहा है, यूपीकोका के कारण भू-माफिया, खनन माफिया में लगे बदमाशों को जमानत तक नहीं मिलेगी. कंपनियों ने यूपी के अच्छे माहौल को देख यहाँ का रुख कर लिया है. दावा किया जा रहा है कि विकास के मामले में आने वाले दस वर्षों में यूपी गुजरात को भी पीछे छोड़ देगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here