BJP पर हमला करते हुए राहुल गांधी से हुई चूक, भारत पर लगा डाला ऐसा कलंक, जिसे देख गुस्से से भड़क उठा पूरा देश ….

0
414

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी कर्नाटक में हार के बाद बोखला गये है जिसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली मौजूदा सरकार की निंदा करते हुए देश के वर्तमान राजनीतिक हालात की तुलना पाकिस्तान से कर दी है. राहुल गांधी ने कहा, ‘पहली बार 70 साल में आपने देखा होगा, आम तौर से जनता सुप्रीम कोर्ट की ओर जाती है, न्याय के लिए, कानून की जरूरत होती है, तो जनता कोर्ट जाती है.

पहली बार आपने देखा होगा कि सुप्रीम कोर्ट के जज जनता के बीच जाकर खड़े होकर कहते हैं कि हमें डराया और धमकाया जा रहा है, शायद ये पहली बार डेमोक्रेटिक देश में हुआ है. ऐसा डिक्टेटरशिप में जरूर होता है. पाकिस्तान में हुआ है. अफ्रीका के अलग -2 देश में हुआ है.’

‘जस्टिस और प्रेस डर में हैं’

राहुल गांधी ने कहा, सुप्रीम कोर्ट के चार जज जनता के सामने खड़े होकर बोलते हैं. हमें डराया और धमकाया जा रहा है. हमारे प्रेस के मित्र यहां खड़े हैं, ये भी आज कल डरके बोलते हैं. देखते हैं कि कहीं कोई मार ना दें. चार जज कह रहे हैं कि हम काम नहीं कर पा रहे हैं. प्रेस, जो डर जस्टिस में है वही डर प्रेस के अंदर है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बीजेपी के सांसद में भी वही डर हैं. वे सीधे कहते हैं कि प्रधानमंत्री के सामने एक शब्द नहीं कह सकते हैं. पूरे देश में डर फैल रहा है. इसका कारण क्या है, कौन सी शक्तियां इस डर का फायदा उठा रही हैं. देश में करोड़ों किसान है. करोड़ों लोग कहते हैं हमारा कर्ज माफ करो. खुलकर जेटली जी कहते हैं कि हमारी पॉलिसी नहीं है. 15 सबसे अमीर लोगों का कर्ज माफ हो जाता है.

‘हर इंस्टीट्यूशन में बिठाए जा रहे RSS के लोग’

कोई भी इंस्टीट्यूशन देख लीजिए देश का, प्रेस, प्लानिंग कमीशन, शिक्षा संस्थान की बात कीजिए, हर इंस्टीटूयूशन में आरएएसएस के लोग भरे जा रहे हैं.

राहुल गांधी ने कहा, ‘हमने अपनी सरकारों में इंस्टीट्यूशन में कभी अपने लोग नहीं भरे. आरएसएस और बीजेपी नहीं चाहते कि गरीब की जनता भी कोई आवाज़ हो, दलित गरीब युवा एक सपना देख सके. ये वो लोग नहीं चाहते. इनका कहाना है कि महिला की जगह पुरुष के सामने खड़े होने की नहीं है. ये इनकी विचारधारा है.

‘हमने आपको जमीन अधिग्रहण बिल दिया’

महिला का काम इनके लिए खाना पकाना है. दलितों का काम इनके लिए सफाई का है. हिंदुस्तान की आवाज़ को दबाओ. हिंदुस्तान का धन चुने हए लोगों को दे दो. ये बीजेपी और आरएसएस का काम है. जब मैं भट्टा परसौल गया उस दिन सबसे बड़ा आक्रमण हुआ मेरे ऊपर. हमने जमीन अधिग्रहण बिल दिया आपको.

पीएम नरेंद्र मोदी में उतनी शक्ति नहीं है कि वह मनरेगा छीन लें. ये लोग आपकी शक्तियां एक के बाद एक करके छीन रहे हैं. हम आपको कमजोर नहीं होने देंगे. हम जानते हैं कि 21वीं सदी में अगर संविधान की रक्षा कोई करेगा. तो देश का पीएम नहीं. प्रधान औऱ सरपंच करेंगे.

सेना सीमा पर जो काम करती है. वही काम आप हर रोज पूरे देश में करते हो संविधान की रक्षा के लिए आप लोग वही काम करते हो. लेकिन आपको मेडल नहीं मिलते. राहुल गांधी जो काम सेना करती है वही काम आप लोग करते हो.

‘जनता के अधिकारों के लिए हम हर रोज लड़ते हैं’

राहुल गांधी ने कहा कि आप हर रोज अपने अधिकारों औऱ जनता के अधिकारों के लिए लड़ते हो, रोज लड़ते हो. आप पीछे नहीं हटते हो. दिल से धन्यवाद देता हूं इसके लिए आपको.

राहुल ने कहा, ‘प्रेस वालों से शिकायत है, घबराए हुए हैं. ये बंद कमरे में कहते हैं, लेकिन बाहर नहीं कहते. मुस्कराते हैं, कोई -2 कह भी देता है. डर लगता है. मार देंगे. आज इस देश में संविधान पर जबरदस्त आक्रमण हो रहा है.

कर्नाटक देख लीजिए, एमएलए एक तरफ राज्यपाल एक तरफ. 100 करोड़ रुपए ऑफर किया गया जेडीएस के नेता ने कहा है. संविधान की रक्षा करनी है, मिलकर लड़ना है.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here