PM मोदी ने दी जिनपिंग को जन्मदिन की बधाई, लेकिन बदले में मिला ये जवाब !

0
4150

डोकलाम विवाद को लेकर चीन अपनी हरकतों से बाज नही आ रहा है चीन बार-बार अपनी झूठी धमकियों से भारत को डराने की कोशिश करता है. डोकलाम सीमा विवाद को लेकर फिर चीन की ओर से भारत को आंख दिखाने का मामला सामने आया है हाल ही में पीएम मोदी ने जिनपिंग को जन्मदिन की बधाई भेजी थी उसपर चीन का ऐसा जवाब आया है जो की भारतीयों के लिए बेहद गुस्से की बात होगी !

अब हम आपको बताते है की आखिर क्या है चीन का जवाब, चीन की मीडिया में छपी खबर के मुताबिक चीन भारत से तब तक बात नहीं करेगा जब तक की भारत डोकलाम से अपनी सेना नहीं हटा लेता.

दरअसल, चीन चाहता ही नही है की भारत और चीन का ये सीमा विवाद सुलज जाये, या ये कहिये की चीन खुद भारत से युद्ध करना चाहता है इसीलिए चीन बार-बार भारत को आंख दिखाता है

चीन ने इस बार ये साफ़ कह दिया है कि, भारत को इस भ्रम में नहीं रहना चाहिए कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के चीन दौरे के दौरान विवाद सुलझाने पर बात होगी.

आने वाले गुरुवार को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ब्रिक्स देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक में हिस्सा लेने के लिए चीन जाने वाले हैं चीन की सभी धमकिया उसकी बौखलाहट की वजह से आ रही है.

चीन की सरकार का कहना है की डोकलाम से पहले भारतीय सेना हटे, उसके बाद ही दोनों देशों के बीच कोई नतीजा निकल सकता है चीन का तो ये तक कहना है कि, तब तक भारत से बातचीत नहीं करेगा, जबतक भारत बिना शर्त अपनी सेना वहां से नहीं हटाता है.

बौखलाए चीन ने ये तक कह दिया है इस पूरे सीमा विवाद के जिम्मेदार अजीत डोभाल है, ग्लोबल टाइम्स ने तो डोकलाम विवाद के लिए अजीत डोभाल को ‘साजिश करने वाला’ तक कहा है.

इससे पहले, डोकलाम विवाद पर पहली बार चीनी सेना ने सीधी धमकी दी थी. डोकलाम पर चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने भारत को धमकाते हुए चीनी सेना के 90 सालों के इतिहास को याद दिलाया.

देखिये क्या था चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता “वू कियान” का बयान !

चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता वू कियान ने कहा, ”मैं भारत को याद दिलाना चाहता हूं कि वो किसी तरह के भ्रम में न रहे, चीन की सेना का 90 साल का इतिहास हमारी ताकत को साबित करता है, देश की रक्षा करने को लेकर हमारे विश्वास को कोई भी डिगा नहीं सकता. पहाड़ को हिलाना मुमकिन है लेकिन चीन की सेना को हिला पाना मुश्किल है ”

डोकलाम विवाद पर देखिये क्या है चीन को भारत का जवाब !

डोकलाम सीमा विवाद पर भारत का कहना है की, ना केवल चीन बल्कि दोनों देशो को ही डोकलाम से अपनी-अपनी सेना को हटा लेना चाहिये, दरअसल भारत का मानना है की अगर दोनों देश अपनी सेना को हटा लेते है तो ये विवाद शांतिपूर्ण तरीके से खत्म किया जा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here