पाकिस्तान के इस गाँव में पूजा के समय अज़ान की आवाज़ हो जाती है धीरे? लश्कर और हाफिज जैसे आतंकी भी खाते हैं खौंफ

0
242

जी हाँ सही पढ़ा आपने, पाकिस्तान में एक ऐसा गाँव बस्ता है जहाँ मंदिर में पूजा के समय मस्जिद में चल रही अज़ान की आवाज़ कम हो जाती है, वजह? जरूर बताएँगे लेकिन, आपको सबसे पहले बताते हैं पाकिस्तान के इस गाँव का नाम.

इस गाँव का नाम है ” मीठी” जहाँ पाकिस्तान के बड़े से बड़ा आतंकी चाहे वो लश्कर, तालिबान या हाफिज सैईद ही क्यूँ न हो इस गाँव की तरफ आँख उठाने की भी नहीं सोच सकता. “मीठी” गाँव की ऐसी ही ख़ास बात से आपको रूबरू कराता ये Exclusive वीडियो.

मीठी, जैसा इस गाँव का नाम है वैसी ही यहाँ के लोगों में मिठास. इस गाँव के हिन्दू और मुसलमानों की पीढ़ियों बहौत समय से साथ रह रही हैं. इस गाँव में लगभग 80 फीसदी जनसँख्या हिन्दुओं की है जबकि बाकि 20 फीसदी मुस्लिम आबादी यहाँ बस्ती है.

लश्कर, तालिबान या हाफिज सैईद जैसे आतंकि इस गाँव की तरफ आँख उठाकर भी नहीं देख पाते. इस गाँव में कोई भी मुस्लिम गौमांस नहीं खाता.

यही नहीं दिवाली के मौके पर मुसलमानों के घर भी दिए से रोशन होते है और हिन्दू मुस्लिम दोनों साथ में ख़ुशी ख़ुशी आतिशबाजी करते है. आतिशबाज़ी भी फुलझड़ी और अनार की होती है बम और गोलियों की नहीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here