राम मंदिर पर पर मोदी,योगी को मिला तुरुप का इक्का, वक्फ बोर्ड समेत ओवैसी को जड़ा ज़ोरदार तमाचा, सन्न रह गए वामपंथी

0
309

सालों से चला आ रहा राम मंदिर का मुद्दा अभी थमा भी नहीं था कि अब सुन्नी वक्फ बोर्ड ने ताजमहल पर भी अपना कब्ज़ा जताना शुरू कर दिया है. कोर्ट में सुन्नी वक्फ बोर्ड ने दलील दी कि खुद शाहजहां ने उन्हें ताजमहल दिया था.
जिसके बाद कोर्ट ने शाहजहां के हस्ताक्षर लाने का आदेश दिया है. लेकिन इस बीच अब खुद बहादुर शाह ज़फर के परपोते ने वक्फ बोर्ड को ज़ोरदार मुहतोड़ जवाब दिया है, जिसके बाद कटरपंथियों की भी बोलती बंद हो जाएगी.

मुग़ल सल्तनता के वंशज ने वक्फ बोर्ड को दिया मुहतोड़ जवाब

अभी मिल रही ताज़ा खबर के मुताबिक मुगल साम्राज्य के आखिरी शासक बहादुर शाह जफर के छठे वंशज प्रिंस याकूब हबीबुद्दीन तूसी ने सुन्नी वक्फ बोर्ड को लताड़ते हुए कहा है कि वक्फ बोर्ड का ना तो ताजमहल पर कोई हक़ है और ना ही राम जन्म भूमि पर. ताजमहल पूरे देश की संपत्ति है और कोई उस पर हक़ नहीं जता सकता.

हबीबुद्दीन तूसी ने दिए इंटरव्यू में कहा “शाहजहां ने कभी वक्फ के बारे में कुछ नहीं लिखा और जहाँ तक राम मंदिर बनने की बात है तो ऐसा कोई कारण मुझे नहीं दिखता जिससे मंदिर नहीं बनना चाहिए. मैं राम मंदिर का समर्थन करता हु क्यूंकि ये अलग अलग दो धर्म के लोगों को साथ लाएगा”

हिंदुस्तान टाइम की खबर अनुसार प्रिंस याकूब हबीबुद्दीन तूसी का वक्फ बोर्ड पर ज़ोरदार गुस्सा फट पड़ा उन्होंने कहा सुनी वक्फ बोर्ड एक बड़ा ज़मीन पर कब्ज़ा करने वाला बोर्ड है. उनके खुद के ऑफिस में ना तो टेबल है और ना ही कुर्सी वे ताजमहल को कहाँ से संभालेंगे.

उन्होंने आगे कहा “वक्फ बोर्ड को सिर्फ ख़बरों में बने रहने का शौक है और ये ही हिन्दू मुस्लिम के बीच में धर्म की दरार पैदा करते हैं.” मुग़ल सल्तनत के वंश होने के कारण मेरा केस सुप्रीम कोर्ट में लंबित चल रहा है मैं ये ज़मीन सीधा भारत सरकार को दे दूंगा. मैं हिन्दू महासभा और आरएसएस को उर्स ऑफ़ शाहजहां में खुले दिल से निमंत्रण देता हु.

जिस देश में रहो उसी के वफादार रहो

अभी तीन हफ्ते पहले भी मुगल साम्राज्य के आखिरी शासक बहादुर शाह जफर के छठे वंशज प्रिंस याकूब हबीबुद्दीन तूसी ने कहा कि राममंदिर का निर्माण जल्द होगा. अयोध्या में रामलला विराजमान होंगे।

इंशाअल्लाह राम मंदिर जहां था वही बनवाएंगे

मैं खुद एक सुन्नी मुसलमान हूं। ईमान बताता है कि जिस देश में रहो वफादारी करो। मीरबाकी की हरकत के लिए काशी की जनता से माफी मांगता हु. संघ के साथ सुन्नी सोशल फोरम पर काम करेंगे और इंशाअल्लाह राम मंदिर जहां था वही बनवाएंगे.

श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण सहयोग मंच और राष्ट्रीय एकता मिशन की ओर से श्रीराम जन्मोत्सव की पूर्व संध्या पर शनिवार को वरुणा घाट किनारे संगीतमय सुंदरकांड और रामकथा का आयोजन किया गया था.

ओवैसी देश बांटता है

इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि प्रिंस तूसी ने एमआईएम के ओवैसी को जोकर कहा। कहा भड़काऊ भाषण देकर देश को बांटता है। इस पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here