उन्नाव और कठुआ के बाद मोदी सरकार का बड़ा कदम, अब रेप करने वालों को सीधा…

0
157

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ हुए कुकर्म और उन्नाव में हुई बलात्कार की घटनाओं ने मानवता को तार-तार कर दिया है. मानवीय सवेदनाओं की बात करने वाले भारतीय समाज में आज मानसिकता का स्तर निचले स्तर पर आ गया है.

यहाँ अब लोगों की आँखों में दया से ज्यादा वहशीपन दिखता है और अपनी हवस को पूरा करने के लिए लोग सारी आमानवियता अपना रहे हैं. ऐसे लोगों को परिभाषित करने के लिए घृणा जैसा शब्द भी बहुत छोटा लगता है. देश में इन घटनाओं को देखते हुए मोदी सरकार बड़ा फैसला लेने जा रही है.

जी हाँ आपको बता दें कि केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गाँधी ने देश में जो बड़ी रेप की घटनाएँ घटी हैं उनको लेकर कहा कि उनका विभाग बाल यौन अपराध विरोधी कानून पॉक्सो में संशोधन के लिए प्रस्ताव तैयार कर रहा है, जिससे 12 साल से कम उम्र के बच्चे – बच्चियों के साथ दुष्कर्म के मामलों में मौत की सजा का प्रावधान किया जा सके.

मेनका ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि इस मामले में कैबिनेट रिपोर्ट तैयार करने के बाद इस रिपोर्ट को विभिन्न मंत्रालयों को भेजेगा जिससे उनकी राय ली जा सके.

मेनका गांधी ने कहा “मेरा मंत्रालय पॉक्सो में संशोधन का प्रयास करेगा ताकि 12 साल के कम उम्र के बच्चे – बच्चियों के साथ दुष्कर्म के मामलों के दोषियों के लिए मौत की सजा का प्रावधान किया जा सके.” इसी के साथ उन्होंने कहा कि कड़ी सजा का प्रावधान ऐसे जघन्य मामलों में प्रतिरोधक का काम करेगा.

मेनका गाँधी ने मीडिया से बातचीत करते हुए अपने विभाग के नए कदम को लेकर कहा कि कठुआ में आठ साल की बच्ची से बलात्कार और हत्या के मामले को लेकर उपजे जनाक्रोश के बाद आया है. उन्होंने कहा कि किशोरों के खिलाफ अपराधों के विरुद्ध कानून को 2015 में सख्त बनाए जाने का अपेक्षित परिणाम देखने को मिला है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here