बीजेपी नेता पर टूटा मोदी का ऐसा कहर जो सपने में भी नहीं सोचा था, यशवंत, शत्रुघन समेत शौरी भी सन्न

0
1030

नई दिल्ली : पीएम मोदी पर कीचड उछालने वालों के मुँह पर ये खबर किसी करारे तमाचे से कम नहीं है. खासतौर पर बीजेपी के ही यशवंत सिन्हा, शत्रुघन सिन्हा और अरुण शौरी जैसे नेताओं के लिए, जो पीएम मोदी को ही बईमान कहने से नहीं हिचकते. कालेधन और भ्रष्टाचार के मामले में पीएम मोदी बीजेपी के नेताओं तक को बक्शने की मूड में नहीं हैं और सभी पर निष्पक्ष कार्रवाई की जा रही है. अभी-अभी एक बड़े बीजेपी नेता पर मोदी का कहर टूटा है.

100 अफसरों ने एक साथ मारा छापा

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के बीजेपी नेता और पूर्व विधायक विजय अग्रवाल के बेटे भरत अग्रवाल के व्यवसायिक ठिकानों पर आयकर विभाग ने छापेमारी की है. रायगढ़ के अलावा रायपुर और मुंबई स्थित कार्पोरेट ऑफिस और बंगलों पर भी करीब सौ अफसरों ने एक साथ छापा मारा. बताया जा रहा है कि मामला बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी और फर्जी कंपनियों से जुड़ा है.

जानकारी के मुताबिक बीजेपी नेता के बेटे भरत अग्रवाल की 20 से अधिक रजिस्टर्ड फर्म हैं. ज्यादातर फर्म कोयले के कारोबार से जुड़ी हैं. इसके अलावा ट्रांसपोर्ट और रेलवे साइडिंग का व्यवसाय अलग है. आयकर की टीम को भरत अग्रवाल के निवास से 16 लाख नकद और भारी मात्रा में हीरे और सोने के जेवरात मिले हैं. आयकर की टीम उनकी बुक्स से कैश और ज्वेलरी का मिलान करने में जुटी है. आयकर की टीम ने बड़ी तादाद में लेन-देन के कच्चे दस्तावेज भी बरामद किए हैं.

रायपुर, रायगढ़, मुंबई और कोलकाता में एक साथ छापेमारी

भारत कोल वैनिफिकेशन एंड पॉवर लिमिटेड के दफ्तर में भी आयकर अधिकारियों ने छापा मारा है. आयकर अधिकारियों को दो ऐसी कंपिनयों के दस्तावेज मिले हैं, जो पहले कोलकाता में संचालित की जाती थीं, फिर उन्हें छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के गुमनाम पता ठिकानों में स्थानतरित किया गया. तीन लॉकर के दस्तावेज भी मिले हैं. इसमें मुंबई, बेंगलुरु और एक रायगढ़ के बैंक का है.

फर्जी कंपनियों के दस्तावेजों का मिला ब्यौरा

नाम न उजागर करने की शर्त पर आयकर विभाग के एक अफसर ने बताया कि बीजेपी नेता और उनके पारिवारिक सदस्यों के कारोबार का बड़ा हिस्सा कैश में संचालित हो रहा था. इसके चलते टैक्स की चोरी हो रही थी. फिलहाल छापे की कार्रवाई आने वाले 24 घंटे तक जारी रहेगी क्योंकि आयकर टीम को भारी मात्रा में फर्जी कंपनियों के दस्तावेज और लेन-देन का ब्यौरा मिला है.

बहरहाल इस बड़ी कार्रवाई से ये साफ़ हो गया है कि पीएम मोदी पूरी ईमानदारी से भ्रष्टाचारियों के पीछे पड़े हैं और अपनी पार्टी के भ्रष्ट नेताओं को भी बख्शने के मूड में नहीं हैं. कांग्रेस ने सत्ता के दौरान जरूर मिल-बांटकर खुली लूट मचाई, मगर मोदी सरकार में ना केवल घोटाले होने बंद हो चुके हैं बल्कि भ्रष्टाचारियों को सलाखों के पीछे भी पहुंचाया जा रहा है.

चारा चोर लालू यादव तो सलाखों के पीछे पहुंच ही चुका है, अब नंबर है कांग्रेस व् बीजेपी के भ्रष्ट नेताओं का, जिन्होंने राजनीति का लूट मचाने के लिए दुरुपयोग किया. खासतौर पर पी चिदमबरम, कार्ति चिदमबरम, सोनिया व् राहुल गाँधी एयरसेल मैक्सिस घोटाले में और हेलीकॉप्टर घोटाले में जल्द ही जेल की हवा खाएंगे.

ये विडियो भी देखें :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here