मोदी-शाह को सरकार बनाने का न्योता देते हुए राज्यपाल ने दिया कांग्रेस-JDS को ऐसा झटका, सन्न रह गए माँ-बेटे

0
108

नई दिल्ली : कर्नाटक विधानसभा के नतीजों के बाद कांग्रेस किसी भी तरह से बीजेपी को सत्ता में आने से रोकने की कोशिशों में लगी हुई है. मगर चुनावों की तरह ही यहाँ भी कांग्रेस को मुँह की खानी पड़ी है. अमित शाह की रणनीति के सामने कांग्रेस के सभी प्रयास विफल हो गए हैं. खबर आ रही है कि राज्यपाल वजुभाई वाला ने येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्योता दे दिया है.

राज्यपाल ने दिया बीजेपी को न्योता

बीजेपी विधायक सुरेश कुमार ने ट्वीट करके जानकारी दी है कि सुबह 9.30 बजे येदियुरप्पा सीएम पद की शपथ लेंगे. उन्होंने आम लोगों को भी इस मौके पर मौजूद रहने को कहा है. बताया जा रहा है कि निर्दलीय विधायक आर शंकर ने मोदी का हाथ थाम लिया है.

बता दें कि कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन की अगुवाई कर रहे सीएम कैंडिडेट कुमारस्वामी अपने समर्थन में विधायकों के हस्ताक्षर लेकर राजभवन पहुंचे, उनमें तीन विधायकों के हस्ताक्षर नहीं मिले. इन विधायकों में सीएस पुट्टाराजू , वेंकटप्पा नाइक समेत मगदी विधानसभा सीट के विधायक मंजुनाथ ने हस्ताक्षर नहीं किए हैं.

कांग्रेस ने विधायकों से छीने फ़ोन

वहीँ कांग्रेस के विधायकों को लेकर पहली बस प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से निकली है. विधायकों को ईगलटन रिजॉर्ट ले जाया जा रहा है, कांग्रेस ने अपने सभी विधायकों से उनके मोबाइल फोन भी चीन लिए हैं और उन्हें किसी से बात करने या मिलने नहीं दिया जाएगा.

बता दें इस पूरे कार्य को अंजाम देने के लिए कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल को अहम जिम्मेदारी दी है. कांग्रेस पार्टी ने गुजरात राज्यसभा चुनाव के दौरान भी इसी रिसॉट में अपने सभी विधायकों को रखा था.

वहीँ इस खबर से कांग्रेस में कोहराम मचा हुआ है. बताया जा रहा है कि राज्यपाल के फैसले के खिलाफ कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट में याचिका डालने जा रही है. इसके अलावा राज्यपाल के सामने विधायकों की परेड करवाई जायेगी और यदि जरुरत पड़ी तो राष्ट्रपति से शिकायत के साथ-साथ राष्ट्रपति के सामने ही विधायकों की परेड भी कराई जायेगी.

तो हो जाएगा खून-खराबा!

बता दें कि बेंगलुरु में मौजूद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने धमकी देते हुए कहा है कि यदि राज्यपाल ने कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए निमंत्रित नहीं किया, तो यहां खूनी संघर्ष होगा.

बहरहाल राज्यपाल के निमंत्रण के बाद तय हो गया है कि येदियुरप्पा ही कर्नाटक के सीएम होंगे और उनसे इसके लिए व्यवस्था करने के लिए भी कहा गया है. फिलहाल ये चर्चा की जा रही है कि येदियुरप्पा का शपथ समारोह राजभवन में होगा या फिर किसी बड़े मैदान में. इस शपथ समारोह में येदियुरप्पा के साथ लगभग 10 विधायक भी मंत्री पद की शपथ लेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here