राजनाथ ने दिये सीज़फायर के आदेश, तो ठनका सेना का माथा, उठाया ऐसा कदम, महबूबा के उड़े होश

0
820

नई दिल्ली : पीएम मोदी देश के दुश्मनों का सफाया करने में लगे हैं. कश्मीर से आतंकवाद को उखाड़ फेकने के लिए ऑपरेशन आल आउट चलाया गया है. भारतीय सेना को खुली छूट दी गयी है कि वो घाटी से आतंकवाद का सफाया कर दें. मगर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जिहादियों के सामने घुटने टेकते हुए ऐसा फैसला लिया है, जिसने देशभर की जनता को हैरान कर दिया है.

सेना को सीजफायर का आदेश

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने महबूबा मुफ़्ती की वो मांग मान ली है, जिसके मुताबिक़ जम्‍मू-कश्‍मीर में रमजान के दौरान आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन नहीं चलाया जाएगा. हालांकि, आतंकियों की ओर से हमला होने की सूरत में सुरक्षाबल जवाबी कार्रवाई कर सकेंगे. बता दें, केंद्र सरकार ने राज्‍य सरकार की मांग पर जम्‍मू-कश्‍मीर में सशर्त सीजफायर का आदेश जारी किया है.

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस आदेश की जानकारी मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को दी. केंद्र के इस आदेश के मुताबिक, रमजान के महीने में सुरक्षाबल जम्‍मू कश्‍मीर में कोई ऑपरेशन नहीं चलाएंगे. हालांकि, सुरक्षाबलों के पास ये अधिकार है कि किसी भी हमले के दौरान वो जवाबी कार्रवाई कर सकें. हांलाकि खबर आ रही है कि भारतीय सेना, गृहमंत्री के इस आदेश से खुश नहीं हैं.

सेना ने दिया महबूबा को झटका, फिर से शुरू हुआ एनकाउंटर

सीजफायर के ऐलान के केवल 90 मिनट के अंदर-अंदर आतंकियों ने पुलवामा के त्राल इलाके में सेना की एक पट्रोलिंग पार्टी पर हमला कर दिया. जिसके बाद हमलावर यहां एक घने जंगल में फरार हो गए थे. इसके बाद भारतीय सेना फिर से एक्शन में आ गयी है.

पट्रोलिंग पार्टी पर हुए आतंकी हमले के बाद एक बड़ा सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया है बताया जा रहा है कि पट्रोलिंग पार्टी पर हमले के बाद आतंकी शिकारगढ़ के घने जंगलों की ओर फरार हुए हैं. आतंकियों के भागने के बाद सेना ने 42 राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू-कश्मीर पुलिस एसओजी और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों के साथ इस पूरे इलाके में गहन तलाशी अभियान शुरू किया.

हिज्बुल मुजाहिदीन का गढ़ कहा जाता है त्राल

बता दें कि हिज्बुल मुजाहिद्दीन क गढ़ कहे जाने वाले त्राल में इससे पहले कई सैन्य ऑपरेशंस में खूंखार आतंकियों को मार गिराया गया है. बुरहान वानी और नूर मोहम्मद तांत्रे जैसे कई बड़े आतंकी कमांडर भी त्राल में हुई सैन्य कार्रवाई में ढेर किए जा चुके हैं. अतीत में हुई तमाम घटनाओं को देखते हुए त्राल में बुधवार को शुरू हुई कार्रवाई के दौरान भी कड़े सुरक्षा इंतजाम किये गए हैं.

इसके अलावा जम्मू-कश्मीर में पिछले दिनों सुरक्षा एजेंसियों द्वारा अमरनाथ यात्रा और रमजान के दौरान किसी बड़े आतंकी हमले की साजिश के इनपुट मिल चुके हैं. ऐसे में सुरक्षा एजेंसियों की ओर से सेना और पुलिस को तमाम जिलों में पूरी सतर्कता बरतने का निर्देश दिया गया है.

बताया जा रहा है कि आतंकियों को घेर लिया गया है और एनकाउंटर शुरू हो गया है. पत्थरबाजों से निपटने के लिए भी सेना पूरी तरह से तैयार है. जल्द ही सेना आतंकियों के मारे जाने की खुशखबरी सुनाने वाले हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here