सेना को मिली साल की सबसे बड़ी कामयाबी, रौद्र रूप धर घाटी में मचाया तांडव, पत्थरबाजों में पसरा मातम

0
1887

नई दिल्ली : भारतीय सेना ने कश्मीर में ज़बरदस्त मिशन आल आउट चलाया हुआ है, इस मिशन को पिछले साल भी बड़ी सफलताएं मिली थी. 200 से ज़्यादा आतंकवादी जिसमे बड़े मोस्ट वांटेड A++ श्रेणी के कमांडर सबज़ारभट्टजैसे मार गिराए थे. तो वही रफ़्तार से इस साल भी सेना ने मिशन आल आउट के साथ caso और sado ऑपरेशन भी चला दिए हैं. जिससे इस बीच बहुत बड़ी कामयाबी सेना के हाथ लगी पत्थरबाज गहरे सदमे में चले गए हैं.

भारतीय सेना की साल का सबसे धमाकेदार एनकाउंटर

अभी मिल रही बहुत बड़ी खबर के मुताबिक भारतीय सेना के जवाबांजो को इस साल की सबसे बड़ी कामयाबी मिल गयीं है. जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले के द्राबगम इलाके में सेना ने आतंकियों का ज़ोरदार एनकाउंटर किया है और अभी अभी ये एनकाउंटर ख़त्म हुआ है.

मिली बड़ी कामयाबी

जिसमे सेना के हाथ बड़ी सफलता लगी है, सेना ने हिज्बुल मुजाहिदीन के टॉप कमांडर और पोस्टर बॉय कहा जाने वाला समीर टाइगर मार गिराया है और उसके साथ दूसरा आतंकी आकिब खान भी मारा गया है.

सेना के ऑपरेशन में खलल डालने वाले दो पत्थरबाज भी सुला दिए गए

बुरहान वानी की तरह टाइगर भी घाटी में हिज्बुल के नये पोस्टरबॉय के रूप में देखा जा रहा था. इलाके में दो से तीन आतंकियों की मौजूदगी का इनपुट मिला था. इसके बाद जवानों ने पूरे इलाके को घेरते हुए जॉइंट सर्च ऑपरेशन चलाया. मुठभेड़ के दौरान बाधा पहुंचाने के लिए सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी भी की गई. जिसके बाद पत्थरबाजों पर भी ज़ोरदार हमला किया गया और दो पत्थरबाजों को भी मौत की नींद सुला दिया गया. पत्थरबाज तुरंत दुम दबाकर भाग निकले. इस एनकाउंटर में दो जवान मामूली जख्मी हुए हैं.

इलाके में अभी ऑपरेशन जारी है। सुरक्षाबलों की जवाबी कार्रवाई के दौरान इलाके को सील कर दिया गया है। इसके साथ ही पुलवामा में मोबाइल और इंटरनेट सेवाओं को भी बंद किया गया है।

बता दें खुद सेना के चीफ बिपिन रावत कह चुके हैं कि पत्थरबाजों के साथ भी अब आतंकवादियों जैसा सुलूक किया जाएगा क्यूंकि इन पत्थरबाजों की वजह से कई बार आतंकी भाग निकलते हैं. जैसे ही इन्हे खबर मिलती है सेना ने आतंकी फंसा लिया है ये लोग whtsapp पर मैसेज भेज सबको बुला लेते हैं.

जैश का कमांडर भी मारा गया

बता दें इस आतंकी की फोटो कुछ वक़्त पहले सामने आयी थी. फोटो में इसके पास अमेरिका की घातक राइफल में से एक M4 कार्बाइन दिख रही थी. इसका मारा जाना बहुत ज़रूरी हो गया था. बता सेना ने अभी कुछ दिन पहले जैश ए मोहमद के भी कमांडर को मार गिराया था. हमारी जाबांज सेना जैसे ही कोई आतंकी संगठन का कमांडर बनता है सबसे पहले उसी को मार गिराती है.

इस वजह से अब कोई आतंकी संगठन में कमांडर बनना नहीं चाह रहा है. सेना ने इस साल से नए आतंकवादी और मोस्ट वांटेड आतंकवादियों की हिट लिस्ट तैयार करी है. जिनका सफाया सबसे पहले होना है.

कश्मीर घाटी में लंबे अरसे से सेना ने आतंकियों के खिलाफ अभियान चला रखा है। 8 जुलाई 2016 को सेना ने त्राल में हिज्बुल मुजाहिदीन के पोस्टरबॉय और कमांडर बुरहान वानी को मुठभेड़ में मार गिराया था. जिसके बाद जनाजे में ISIS और पाकिस्तान के झंडे लहराए गए थे.

यही नहीं पाकिस्तान में black day मनाया गया था. पाकिस्तान हर मरने वाले आतंकी को आम कश्मीरी बताता है और भारतीय सेना को जुल्मी. पाकिस्तान कभी भी ISIS के झंडे इन आतंकियों के हाथों में हैं ये नहीं दिखाता.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here