येदियुरप्पा के शपथ लेते ही कांग्रेस पर टूटा मुसीबतों का पहाड़, पूरी तरह बर्बाद हो गए राहुल, जेडीएस भी सन्न

0
534

नई दिल्ली : सोनिया गाँधी और कांग्रेस की लाक्ष कोशिशों के बावजूद कर्नाटक में येदियुरप्पा सरकार का गठन हो गया है. इसी के साथ कांग्रेस के लिए दिल दहलाने वाली खबर आनी शुरू हो गयी है. कर्नाटक में कांग्रेस के जो चार विधायक पार्टी की बैठकों में नहीं शामिल हो रहे थे, उनमे से दो विधायकों ने बेहद चौंकाने वाला फैसला ले लिया है.

डूबती कांग्रेस को छोड़ रहे विधायकों ने थामा मोदी का हाथ

कांग्रेस के दो विधायकों के भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ जाने की खबर है. जिसमें से एक बेल्लारी जिले के विजयनगर सीट से विधायक आनंद सिंह हैं. आनंद सिंह बीजेपी की सरकार में 2008 से 2013 तक मंत्री रह चुके हैं. काग्रेस के एक विधायक डीके सुरेश ने कहा, ”आनंद सिंह को छोड़कर सभी विधायक यहां मौजूद हैं. सिंह नरेंद्र मोदी के संपर्क में हैं.” वहीं दूसरे विधायक का नाम पीजी पाटिल है. एक कांग्रेस नेता ने कहा कि हमने पाटिल से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन यह संभव नहीं हो पाया.

खुद को कैद से बचाने के लिए प्राइवेट जेट से उड़ गए विधायक

बता दें कि कांग्रेस के दो विधायक गायब हैं, इनमें से एक विधायक विजयनगर के आनंद सिंह ने तो बीजेपी कैंप में लौटने का फैसला कर लिया है लेकिन ये दूसरे विधायक कौन हैं, जिनका कोई पता नहीं है. ये विधायक हैं मसली विधानसभा सीट से चुने गए प्रतापगौड़ा पाटिल. बताया जा रहा है कि वो एक प्राइवेट जेट पर बैठकर अज्ञात जगह उड़ गए हैं.

दक्षिण भारत के न्यूज पोर्टल न्यूज मिनट्स के अनुसार प्रतापगौडा न तो उस बस में थे, जो कांग्रेसी विधायकों को एगलटन रेसोर्ट्स में ले गई और न ही वो कांग्रेस के संपर्क में हैं. कांग्रेस उनसे संपर्क साधने की हरसंभव कोशिश कर रही है लेकिन वो गायब हैं. हालांकि बाद में पता लगा कि उन्होंने बेंगलुरु के एचएएल एयरपोर्ट से एक फ्लाइट पकड़ी.

बेंगलुरु से तड़के पकड़ी फ्लाइट

विधायक साहब कांग्रेस द्वारा विधायकों के अपहरण और उन्हें रिसोर्ट में कैद करके रखे जाने से नाखुश थे. बताया जाता है कि उन्होंने बेंगलुरु के एचएएल एयरपोर्ट से बुधवार सुबह 04.40 बजे फ्लाइट पकड़ी. ये तय माना जा रहा है कि प्रतापगौडा भी बीजेपी को सपोर्ट करेंगे.

दूसरे विधायक ने पाला बदला

कांग्रेस के दूसरे विधायक आनंद सिंह ने तो बाकायदा घोषित कर दिया है कि वो बीजेपी के साथ चले गए हैं. आनंद विजयनगर से जीते हैं. वो बीजेपी सरकार में पूर्व मंत्री रह चुके हैं. वो इसी जनवरी में कांग्रेस में आए थे और उनका मकमद टिकट पाना था. जब बुधवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक में वो नहीं पहुंचे तो ये अटकलें शुरू हो गईं थी कि उन्होंने पाला बदल लिया है. शाम होने तक ये स्पष्ट भी हो गया कि उनकी निष्ठा और समर्थन फिर बीजेपी के लिए है.

कांग्रेस को अभी से झटके लगने शुरू हो गए हैं. डूबती हुई पार्टी को अब उसके विधायक छोड़ रहे हैं, खासतौर पर वो, जो पहले कभी बीजेपी में थे. ऐसे में ये तय माना जा रहा है कि अमित शाह की रणनीति अपना काम कर रही है और येदुरप्पा अपना बहुमत साबित कर ही लेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here