आप कर्नाटक के नाटक में लगे रहे, देश में बड़ा हमला हो गया, रौंद्र रूप में आये मोदी ने डाले ये सख्त आदेश

0
993

श्रीनगर : सारा देश कर्नाटक में चल रही चुनावी उठा-पटक को देख रहा है, वहीँ दूसरी ओर पाकिस्तान रमजान में भी अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. जिस रमजान को लेकर महबूबा मुफ़्ती भारत सरकार से सेना के ऑपरेशन “आल आउट” को रोकने की गुहार लगा रही है, उसी रमजान में पाक सेना ने भारतीय सेना पर हमला करने की हिमाकत की है.

भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा पर ज़ोरदार झड़पें

पाक फ़ौज को लगा कि शायद भारतीय सेना रमजान के मौके पर जवाबी कार्रवाई नहीं करेगी, मगर उसकी ग़लतफ़हमी उस वक़्त दूर हो गयी, जब जवाबी हमले में भारतीय सेना ने उसके फौजियों की लाशें बिछा दी. दरअसल पीएम मोदी ने भारतीय सेना को ईंट का जवाब पत्थर से देने के आदेश दिए हुए हैं. सेना को आदेश हैं कि पाक फ़ौज के हमले के वक़्त उन्हें सरकारी आदेश की प्रतीक्षा करने की जरुरत नहीं, वो अपने विवेक का इस्तमाल करके मुहतोड़ जवाब दें.

पाक फ़ौज ने बिना किसी उकसावे के सीमापार से सीजफायर का उलंघन करते हुए भारी गोलीबारी करनी शुरू कर दी, जिसके कारण चार कश्मीरी नागरिक और सुरक्षा बल का एक जवान शहीद हो गया. जिसके बाद भारतीय सेना ने पाक फ़ौज को उसी की भाषा में जवाब देना शुरू किया तो पाक फ़ौज में भगदड़ मच गयी. बताया जा रहा है कि भारतीय सेना के हमले में कई पाक सैनिक मारे गए हैं. सियालकोट सेक्टर में भारत की ओर से की गई फायरिंग में चार पाक नागरिक भी मारे गए हैं.

साथियों की लाशें गिरते देख भागे पाक सैनिक

जानकारी के मुताबिक़ भारतीय सेना की ओर से इतनी भीषण जवाबी कार्रवाई की गयी है कि पाक फ़ौज में आतंक फ़ैल गया और वो अपनी पोस्ट छोड़ कर भाग खड़े हुए. पाक फ़ौज की हालत इतनी पस्त हो गयी कि पाकिस्तान ने भारत के उच्चायुक्त अजय बसारिया को तलब किया और उनसे गुहार लगाई कि भारतीय सेना की फायरिंग रुकवाई जाए.

पाक विदेश कार्यालय ने आज बयान जारी कर कहा है कि विदेश सचिव ने भारतीय दूत को तलब किया और पुखलियान, चपराड़, हरपाल, चरवाह और शकरगढ़ सेक्टरों में शुक्रवार को गोलीबारी की घटनाओं की ‘निंदा’ की. पाकिस्तान ने भारतीय राजनयिक को सूचित किया कि ‘भारतीय सेना की फायरिंग में खानूर गांव के एक ही परिवार के चार सदस्यों की मौत हो गई और 10 अन्य घायल हो गए.’ पाक विदेश कार्यालय ने कहा कि भारत की ओर से अब भी गोलीबारी जारी है.

मोदी के मिशन कश्मीर को फ़ैल करने की साजिश

वहीँ भारतीय अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार तड़के जम्मू के गांवों और सीमा चौकियों पर पाकिस्तानी रेंजरों की भारी गोलाबारी में बीएसएफ का एक जवान सहित चार लोग शहीद हो गए और 12 अन्य जख्मी हो गए. पाकिस्तान को उसी का जवाब दिया गया है.

बीबीएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी रेंजर रात एक बजे से ही आर एस पुरा, बिशनाह और अरनिया सेक्टर में गोलाबारी कर रहे हैं. बीएसएफ के आईजी राम अवतार ने बताया कि फसलों की कटाई का सीजन खत्‍म होते ही पाकिस्‍तान हमेशा ऐसी हरकतें करता है, लेकिन हम उनका भरपूर जवाब दे रहे हैं.

दरअसल पाक फ़ौज की आदत हो गयी है कि पहले तो वो आतंकी घुसपैठ कराने के लिए भारतीय सेना पर फायरिंग करता है और फिर जब भारत की ओर से गोलियों के जवाब में गोले दागे जाते हैं और उसके सैनिक जहन्नुम पहुंचने लगते हैं तो वो बौखलाहट में भारतीय उच्चायुक्त को तलब करके फायरिंग रोकने की गुहार लगाता है.

दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 19 मई को जम्मू कश्मीर के दौरे पर जाने वाले हैं और उनकी इस यात्रा से पहले अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान बीते तीन दिन से गोलीबारी कर रहा है. पाक किसी भी हालत में भारत में आतंकी घुसपैठ कराना चाहता है, ताकि कश्मीर में दमतोड़ रहे अलगाववाद को फिर से ज़िंदा किया जा सके. मगर भारतीय सेना उसके हर नापाक इरादे को नाकाम कर रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here