बड़ी खबर: कर्नाटक चुनाव से पहले अनिल अंबानी ने कांग्रेस का कर दिया बुरा हाल ! अब…

0
286

कांग्रेस पार्टी की एक मुस्किल थमने का लेती नहीं है कि दूसरी सामने आ जाती है. अक्सर राहुल गाँधी चुनावों में प्रचार के दौरान गलती कर बैठते हैं. जिसके चलते वह लोगों के निशाने पर आ जाते हैं. फिर राहुल गाँधी जमकर ट्रोल हो जाते हैं. अब इस समय कर्नाटक चुनाव चर्चा में बने हुए हैं.

अब ऐसे में एक ऐसी खबर आ रही है जिसने सभी के होश उड़ा रखे हैं. इस खबर को जानने के बाद पूरी कांग्रेस पार्टी को गहरा सदमा लग सकता है. आइये बताते हैं क्या है मामला ?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अनिल अंबानी के नेतृत्व वाली कंपनी रिलायंस समूह ने मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम को बड़ा झटका दिया है. रिलायंस समूह ने मुंबई के उच्च न्यायलय में निरुपम के खिलाफ 1000 करोड़ की मानहानि की याचिका दायर की है. जिसके बाद कांग्रेस के अध्यक्ष निरुपम को 1000 करोड़ का नोटिस भेज दिया गया है. इसके पीछे की वजह जानकर राहुल गाँधी के भी होश उड़ जायेंगे. चुनावों से पहले कांग्रेस को ये बड़ा झटका है.

गौरतलब है कि मुंबई कांग्रेस के प्रमुख संजय निरुपम ने मंगलवार को आरोप लगाया था कि अडाणी ट्रांसमिशन द्वारा रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर के कर्ज के बोझ से दबे मुंबई के बिजली कारोबार के अधिग्रहण के पीछे प्रधानमंत्री कार्यालय पीएमओ का हाथ है. कंपनी ने निरुपम के इन आरोपों को झूठा और आधारहीन होने की वजह से मानहानि का मुकदमा ठोंक दिया है. जिसके बाद निरुपम की मुश्किलें बढ़ गयी हैं.

कंपनी की तरफ से बयान जारी करते हुए कहा है कि निरुपम ने रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर के एकीकृत मुंबई के बिजली कारोबार की अडाणी ट्रांसमिशन को बिक्री के प्रस्ताव को लेकर झूठे और आधारहीन आरोप लगाये हैं जिसके बाद ये मानहानि का नोटिस भेज मुकदमा किया गया है.

इसी के साथ उन्होंने सरकार द्वारा फ़्रांस से राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद से भी जोड़ा है. इन आरोपों के बाद निरूपण पर मानहानि का मुक़दमा कर आरोपों को वापस लेने और नोटिस मिलने के 72 घंटे में मांफी मांगने को कहा है.

बता दें अनिल अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर के शेयरधारकों ने पिछले महीने कंपनी के मुंबई के बिजली कारोबारी अडाणी ट्रांसमिशन को 18800 करोड़ रूपये में बेचने की मंजूरी दे दी थी. उनके इस अधिग्रहण के बाद करीब 30 लाख उपभोक्ताओं को 1800 मेगावाट बिजली आपूर्ति की जिम्मेदारी आ जाएगी. जिसको लेकर आरोप लगाए गये थे. अब मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष निरुपम की परेशानी बढ़ गयी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here